भारत में पहले से डिजिटल पेमेंट की सुविधा उपलब्ध कराने वाली बहुत साड़ी कंपनियों के लिए चुनौती की घडी आ गयी है….दरअसल बात ये है की भारत सरकार ने नोटबंदी के दौरान डिजिटल पेमेंट से प्राइवेट कंपनियों को हुए बेशुमार मुनाफे को देखते हुए भारत सरकार अपना खुद का डिजिटल वॉलेट लायी है…जिसका नाम है “भीम”

जी हाँ भीम (BHIM = भारत इंटरफेस फॉर मनी) के द्वारा आप अपने सारे ट्रांसक्शन्स कर पाएंगे और वो भी बिना इन्टरनेट के.

क्या है खासियत:

1. भीम वॉलेट सीधे तौर पे आपके बैंक कहते से जुड़ा होगा जिस से आपको पहले अपने बैंक से वॉलेट में ट्रांसफर करने की ज़रुरत नही है.

2. भीम वॉलेट बिना इन्टरनेट के भी काम करता है क्योंकि ये सीधे तौर पे आपके बैंक अकाउंट से जुड़ा होता है.

3. भीम आपके कहते से जुड़ा होने के कारण आपको सीधे सेलर और बैंक के बीच कनेक्ट करता है.

4. भीम ऐप केन्द्र सरकार की संस्था नैशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) द्वारा निर्मित और संचालित है. यह संस्था केन्द्रीय रिजर्व द्वारा रेगुलेटेड है. जबकि PayTM एक प्राइवेट कंपनी है और जिसमे चीन की कंपनी अलीबाबा ने भी निवेश किया है. कुछ दिनों पहले कंपनी को टाटा ग्रुप का भी सहयोग मिला है.

5. PayTM कंपनी किसी भी तरह के चार्जेज लगा सकती है क्योंकि यह एक प्राइवेट कंपनी है. PayTM के द्वारा ट्रांसक्शन करने के लिए पहले आपको अपने बैंक अकाउंट से पैसे PayTM में ट्रांसफर करने होते है उसके बाद ही आप सेलर को पैसे ट्रांसफर कर सकते है जिसमे दो बार आपको सर्विस चार्ज लगाया जा सकते है जबकि भीम में बैंक से सीधे तौर पे जुड़े होने के कारण सर्विस चार्ज सिर्फ एक बार ही लग सकता है.




loading…


Tags:

©2019 The Tech Media - Tech for Everyone powered by Digital Greedy

or

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

or

Create Account